Friday, 27 October 2017

होम्योपैथिक दवाई से करे सर्दी जुखाम या नजले का इलाज



cough cold homeopathic treatment
सर्दी-जुकाम में होम्योपैथिक दवा एक अच्छा इलाज करती है। गर्म ठंडी चीज़ एक साथ खाने,और गर्मी में से आने पर ठण्डे चीज़ खा लेने, मौसम बदलने आदि कारणों से सर्दी-जुकाम हो जाता है डॉक्टर मरीज के लक्षणों के आधार पर दवाई देते है सर्दी जुखाम होने से मरीज़ को  छींकें आती हैं,आँखों से भी पानी आता है, सिर-दर्द रहता हैं, जिससे रोगी बहुत परेशान हो जाता है तो जानते है सर्दी जुखाम का होम्योपैथिक मे इलाज।

    जाने:-बालो का सफ़ेद होना कैसे रोके होम्योपैथिक उपचार से 


होम्योपैथिक इलाज:-

1.जब आपको सर्दी-जुकाम हो जाए तो सबसे पहले इसी होम्योपैथिक दवा को देना सही रहेगा जिसका नाम (एकोनाइट 30,3x) है  अगर फीवर भी साथ मे तो यह दवा बहुत अच्छा काम करती है...
2.
सर्दी-जुकाम में आपकी नाक व आँखों से पनीला स्राव आता हो तो यह दवा (एलियम सिपा 30, 200) बहुत काम आती है ये दवा बहुत ज़ल्दी आराम करती है...
3.
जब रोगी को नजला छींकों से शुरू होता है और इसका बहाव पानी की तरह होता है जिसे रोगी की नाक  दिन में बहती है और रात में बंद हो जाती है। तो इस दवा (नक्स वोमिका 12, 30) को देना सही रहेता है...
4.
जब रोगी को सर्दी मे पानी-सा बहाव  निकले और मरीज़ को गर्म कमरे में आराम मालून मिले लेकिन खुली हवा में परेशानी तो इस दवा (आर्सनिक एल्ब 12, 30) से बहुत लाभ मिलता है...
5. अगर रोगी की बार-बार नाक बंद होती है और रोगी को बार-बार छीक आती है तो रोगी को (स्टिक्टा पल्मोनेरिया 3, 6) को देनी चाहिये...
6.
यदि बच्चो को ब्लॉकाइटिस, निमोनिया जैसे रोगों जिनमें छाती में घर्र-घरं की आवाज आती हो तो इसमें (इपिकाक 12,30) देना सही है...
7.
यदि जुकाम पुराना हो जाए और नाक से गाढ़ा बहाव हो तो इसमें (पल्सेटिला 30) दवा को देने से बहुत लाभ होता हैं...
8.ये दवा (आयोडन Q) पुराने नजले और छीको मे काम आती है...
 

लेकिन इन सभी दवाई को लेने से पहेले डॉक्टर से परामर्श ज़रूर ले...
अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आए तो अपने दोस्तों को शेयर करे.......

No comments:

Post a Comment